Thursday, 14 May 2015

बलागर, बांग्लादेश और बर्बरता - सुधीर मौर्य

अनंत विजय दास यही है उस ब्लॉगर का नाम जिसे बांग्लादेश में कट्टरपंथियों ने जान से मार दिया।

तैंतीस वर्षीय अनंत विजय दास की सिलहट में १२ मई की सुबह उनके घर के पास गला  काट कर हत्या कर दी गई। नकाबपोश बदमाशों ने घटना को उस वक्त अंजाम दिया जब  अनंत विजय दास घर से आफिस के लिए जा रहे थे। प्रत्याक्षदर्शियों के अनुसार बदमाशों ने पीछे से चाकू से हमला किया।
पेशे से बैंकर दास 'मुक्ति मोन' वेबसाइट के लिए ब्लॉग लिखते थे। कभी इसी वेबसाइट से बांग्लादेशी मूल के अमेरिकी ब्लॉगर अविजीत रॉय भी जुड़े थे। दास ने रॉय की एक किताब की प्रस्तावना भी लिखी थी। उनके करीबियों के मुताबिक वे कट्टरपंथियों की नास्तिक ब्लॉगरों की हिट लिस्ट में शामिल थे। हाल के महीनों में अपने लेखों के कारण उन्हें  कट्टरपंथियों से धमकियां भी मिली रही थी।
बांग्लादेश में ये तीसरे  ब्लागर की हत्या है।  इससे पहले अविजीत रॉय और  वशीकुर रहमान की भी हत्या हो चुकी है।

--सुधीर मौर्य

6 comments:

  1. आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल शनिवार (16-05-2015) को "झुकी पलकें...हिन्दी-चीनी भाई-भाई" {चर्चा अंक - 1977} पर भी होगी।
    --
    सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
    --
    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक
    ---------------

    ReplyDelete
  2. बहुत शर्म की बात है कि आज के समाज में भी ऐसा होता है

    ReplyDelete
    Replies
    1. jaha jahan kattarpanrh hoga ye ghatanye aam hogi mitr.

      Delete
  3. vaha ka samaj lagatar peechhe ja raha hai ..lagbhag barbar yug me ...sharmnaak hai ye ..

    ReplyDelete
    Replies
    1. ha kavita ji isse jyada aur kya sharmnak hoga ki vyakti apni bat hi nahi kah sakta.

      Delete