Tuesday, 12 June 2012

कुमार हकीकत राय



शाही थी मुगुल और इसका शाह था औरंगजेब. उन्ही दिनों हुआ था कुमार हकीकत राय का बलिदान. उस हिन्दू किशोर ने पाठशाला के पाटी-पूजन के दिन अपनी पाटी पर देवी का चित्र बनानाने का घोर अपराध किया था. उसे देखते ही मुस्लिम शिस्छा अधिकारी ने उसे इस अपराध के लिए मुस्लमान बन जाने का दंड दिया. बालक द्वारा अस्वीकार किये जाने पर उसे मार डालने का भय दिखाया. वीर बालक ने उसकी परवाह न की और अपने धर्म पर डटा रहा. फलता: तत्काल उसका सर कट दिया गया. आज भी पंजाब  में उसकी स्मरति में उत्सव होता हे....





2 comments:

  1. संजय @ मो सम कौन ? has left a new comment on your post "कुमार हकीकत राय":

    हमारी तरफ इस बारे में जो बात प्रचलित है वो ये कि हकीकत राय के मुसलमान सहपाठी हिंदू देवियों के बारे में उल्टा सीधा बोल रहे थे और उनको जवाब में हकीकत राय ने 'फातिमा' का नाम लेकर वैसा सा ही कुछ जवाब दिया था|इससे बात बढ़ गई और काजी ने इस बालक को इस्लाम या मौत में से एक चुनने का विकल्प दिया था|

    ReplyDelete